आज श्रीलंका के विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात करेगे

श्रीलंका को आर्थिक संकट से उभारने में मदद

  • श्रीलंका के विदेश मंत्री जीएल पीरिस तीन दिन की आधिकारिक यात्रा पर रविवार को दिल्ली पहुंचे हैं। बता दें यह यात्रा बेहद खास बताई जा रही है, जिसके कारण श्रीलंका को आर्थिक संकट से उभारने में मदद मिलेगी।‌ द्वीप राष्ट्र में चल रहे आर्थिक संकट के बीच, श्रीलंकाई विदेश मंत्री पीरिस सोमवार को नई दिल्ली में अपने भारतीय समकक्ष विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात करने वाले हैं।‌
  • श्रीलंका के विदेश मंत्री जीएल पीरिस और भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर आज एक दूसरे से मुलाकात करेंगे।‌ दोनों मंत्रियों द्वारा श्रीलंका की आर्थिक स्थिति पर बातचीत करने का कयास लगाया जा रहा है।
  • यही नहीं श्रीलंका की आर्थिक सहायता के साथ-साथ अन्य संभावित बुनियादी ढांचा परियोजनाओं पर भी चर्चा करने की उम्मीद है।
  • दो देशों के विदेश मंत्रियों द्वारा होने वाली बातचीत कई दृष्टिकोण से अहम मानी जा रही है, उम्मीद लगाई जा रही है कि है, केंद्रीय मंत्री एस जयशंकर की बातचीत में हिंद महासागर क्षेत्र को प्रभावित करने वाले मुद्दों और मछुआरों के अधिकारों से संबंधित कई बातें भी शामिल हो सकती हैं।
  • आपको बता दें कि श्रीलंकाई विदेश मंत्री पीरिस की यात्रा के दौरान, विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला से भी मिलने की उम्मीद है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने अपने आधिकारिक टि्वटर हैंडल से रविवार को ट्वीट कर बताया था कि‌ श्रीलंका के विदेश मंत्री प्रो. जीएल पीरिस आधिकारिक दौरे पर दिल्ली पहुंचे हैं।
  • बता दें कि विदेश मंत्री जयशंकर की इससे पहले आखिरी बार श्रीलंकाई विदेश मंत्री पिरिस से न्यूयार्क में मुलाकात हुई थी, जहां पर दोनों मंत्रियों ने दोनों देश के बीच घनिष्ठ साझेदारी पर काफी बड़ी चर्चा की थी।
  • इससे पहले श्रीलंका के वित्त मंत्री तुलसी राजपक्षे पिछले साल दिसंबर में भारत यात्रा पर आ चुके हैं, जिसमें उन्होंने द्वीप राष्ट्र के सामने आने वाले आर्थिक संकट से संबंधित उपायों पर केंद्रित थी।
  • वहीं केंद्रीय मंत्री एस जयशंकर ने 15 जनवरी को श्रीलंका के वित्त मंत्री के साथ एक वर्चुअल बैठक की थी, जहां उन्होंने बताया कि भारत हमेशा श्रीलंका के साथ खड़ा रहा है और अपना समर्थन देना जारी रखेगा।