उत्तर प्रदेश: ई-विधानसभा से विधानसभा को पेपरलेस बनाने की तैयारी में हैं योगी सरकार

पीएम मोदी द्वारा डिजिटल इंडिया को लेकर किए गए प्रयासों का भी उल्लेख

  • उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने शुक्रवार को कहा कि ई-विधानसभा (E-Assembly) के क्रियान्वयन के बाद हम यह सुनिश्चित करेंगे कि पूरी विधानसभा को पेपरलेस बनाया जाए. सीएम योगी ने यह बात ई-विधान व्यवस्था के उद्घाटन के अवसर पर कही.
  • सीएम योगी ने कहा, ‘हमारे पास पहले से ही ई-कैबिनेट है और हमने 2 साल पहले ही ई-बजट की शुरुआत की थी. ई-विधानसभा के क्रियान्वित होने के बाद हम यह सुनिश्चित करेंगे कि पूरी विधानसभा को पेपरलेस बनाया जाए और प्रतिनिधि टैबलेट डिवाइस की मदद से कार्यवाही व गतिविधियों पर नजर रख सकें.’
  • योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ”अब सदन में आपको बहुत मोटा बैग लाने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी. विधायक जब सदन में आते थे तो अपने साथ सहायक को साथ लेकर चलते थे. बहुत बार उनकी सुरक्षाकर्मियों के साथ बहस होती थी कि उनका सहायक बैग लेकर सदन तक उनके साथ जाए. अब ई-विधान के बाद आपका काम सरल हो जाएगा.”
  • सीएम योगी ने इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा डिजिटल इंडिया को लेकर किए गए प्रयासों का भी उल्लेख किया. सीएन ने कहा कि उन्होंने डिजिटल इंडिया के माध्यम से सरकार की योजनाओं को आमजन तक पहुंचाने के लिए तकनीक के अधिक से अधिक इस्तेमाल पर हमेशा जोर दिया है.
  • उल्लेखनीय है कि लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला आज राज्य के ई-विधानसभा के प्रशिक्षण मॉड्यूल का उद्घाटन करने लखनऊ पहुंचे जहां उनका सीएम योगी और विपक्ष के नेता अखिलेश यादव ने स्वागत किया. यह प्रशिक्षण बजट सत्र की शुरुआत से पहले नवनिर्वाचित सदस्यों को दिया जाएगा.