UPSSSC परीक्षा के परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम पर सहमति बन गई है

UPSSSC परीक्षा पाठ्यक्रम संबंधी आदेश जल्द जारी

  •  उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग {UPSSSC} द्वारा आयोजित की जाने वाली प्रारंभिक अर्हता परीक्षा {Preliminary Eligibility Test} का Syllabus तय हो गया है.
  • कल यानी 4 फरवरी को उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव नियुक्ति एवं कार्मिक मुकुल सिंघल की अध्यक्षता में एक मीटिंग आयोजित की गई है. 
  • इस मीटिंग में प्रारंभिक अर्हता परीक्षा के परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम(Syllabus) पर सहमति बन गई है. परीक्षा पाठ्यक्रम संबंधी आदेश जल्द जारी कर दिया जाएगा.

निगेटिव मार्किंग की व्यवस्था

प्रदेश के विभिन्न विभागों में ग्रुप सी के पदों पर भर्ती के लिए प्रारंभिक अर्हता परीक्षा के दो घंटे का समय निर्धारित किया गया है. इस परीक्षा में कुल 100 प्रश्न पूछे जाएंगे जो बहुविकल्पीय प्रकार के होंगें.

प्रीलिम्सअर्हता परीक्षा में सवाल का गलत जवाब देने पर निगेटिव मार्किंग की व्यवस्था होगी. परीक्षार्थी यदि किस प्रश्न का गलत उत्तर देता है तो उसे ¼ मार्क्स का नुक्सान उठाना पडेगा.

सवालों में 8वीं लेवल का दर्जा

  • प्रारंभिक अर्हता परीक्षा में पूंछे जाने वाले सवालों का लेवल 8वीं दर्जा का होगा.
  • अर्थात इस परीक्षा में 8वीं कक्षा के लेवल का भारतीय इतिहास, भारतीय आंदोलन, भूगोल, भारतीय अर्थव्यवस्था, भारतीय संविधान, लोक प्रशासन, सामान्य विज्ञान के जुड़े सवाल पूछे जाएंगे.
  • इसके अलावा प्रारंभिक अर्हता परीक्षा में आठवीं के लेवल की प्रारंभिक अंकगणित, सामान्य हिंदी, सामायिकी, तर्क एवं तर्कशक्ति, गद्य विश्लेषण एवं विवेचन, सामान्य जागरूकता, ग्राफ का विवेचन एवं विश्लेषण संबंधी सवाल पूछे जाएंगे.

परीक्षा का रिजल्ट परसेंटाइल के आधार पर जारी

  • उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने कहा कि प्रीलिम्स अर्हता परीक्षा के एग्जाम पैर्टन और पाठ्यक्रम की मंजूरी मिलने के बाद इसको ऑनलाइन किया जाएगा.
  • इससे इस परीक्षा में बैठने वाले कैंडिडेट्स को जानकारी मिल सकेगी.
  • आयोग के मुताबिक़ प्रारंभिक अर्हता परीक्षा का रिजल्ट परसेंटाइल के आधार पर जारी किया जाएगा.
  • इसके आधार पर भर्ती परीक्षा में अभ्यर्थियों को शामिल होने का मौका मिलेगा.