ट्रैक्टर रैली अनुशासन और पूरे नियम के तहत निकाली जाएगी- किसान नेता

किसानों और पुलिस के बीच टकराव

  • गणतंत्र दिवस के अवसर पर किसान ट्रैक्टर रैली निकाल रहे हैं। किसान नेताओं का दावा था कि उनकी ट्रैक्टर रैली अनुशासन और पूरे नियम के तहत निकाली जाएगी, लेकिन सड़क पर कई जगह ऐसा बिल्कुल भी नजर नहीं आया।
  • दिल्ली-उत्तर प्रदेश सीमा गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शनकारी किसानों में शामिल कुछ युवा किसान तय समय से पहले बैरीकेड हटाकर देश की राजधानी दिल्ली में प्रवेश कर गए। वहीं ट्रैक्टर पर बैठे युवा किसान तेज आवाज में डीजे, तेज रफ्तार में ट्रैक्टर को हाइवे पर दौड़ाते नजर आ रहे हैं।
  • दिल्ली-नोएडा बॉर्डर पर किसानों और पुलिस के बीच टकराव देखने को मिला। किसानों ने बैरिकेड्स को तोड़कर फेंक दिया है।

किसानों का कहना है कि पुलिस की लापरवाही के कारण यह भिड़ंत हुई है। पुलिस ने इन्हें रोकने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। किसानों ने भी पुलिस की गाड़ियों पर पथराव किया।

ट्रैक्टर परेड निकालने की योजना

  • ट्रैक्टर परेड को लेकर किसान संगठनों की तरफ से कुछ निर्देश जारी किए गए थे, लेकिन फिलहाल इन निर्देशों का कोई खासा असर देखने को नहीं मिल रहा है।
  • किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे किसान नेताओं को उन्हें नियंत्रित करने में काफी मशक्कत करनी पड़ रही है।
  • नये केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ ये सभी दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं।
  • दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे किसानों की अगुवाई करने वाले किसान संगठनों का संघ संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले राष्ट्रीय राजधानी में ट्रैक्टर परेड निकालने की योजना बनाई गई थी।