आज ओडिशा के राज्यपाल गणेशी लाल से सीपी मोहंती ने मुलाक़ात की

सीपी मोहंती भारतीय सेना के 42वें उप प्रमुख

  • मोहंती ​को 1982 में राजपूत रेजिमेंट में ​ कमीशन किया गया ​था ।
  • लेफ्टिनेंट जनरल मोहंती ने जून-अगस्त 2017 में सिक्किम-भूटान-तिब्बत त्रिकोणीय जंक्शन के पास डोकलाम में चीन के साथ 73 दिनों के टकराव के तुरंत बाद पूर्वी क्षेत्र में महत्वपूर्ण 33 कोर की कमान संभाली थी।​
  • ​​उन्हें पाकिस्तान और चीन के साथ सीमाओं और असम में सक्रिय आतंकवाद रोधी अभियानों में​ कार्य करने का अनुभव है।
  • उन्होंने कांगो में एक बहुराष्ट्रीय संयुक्त राष्ट्र ब्रिगेड का नेतृत्व भी किया है।​
  • दक्षिणी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ​ बनने से पहले​​ वह उत्तर भारत क्षेत्र के जनरल ऑफिसर कमांडिंग के रूप में तैनात थे​​।​

दक्षिणी कमान के सेना कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल होंगे। मौजूदा उप सेना प्रमुख एसके सैनी के ​31 जनवरी को सेवानिवृत्त होने के बाद मोहंती कार्यभार संभालेंगे।मोहंती ने बुधवार को ओडिशा के ​राज्यपाल ​गणेशी लाल से राजभवन में ​मुलाकात की। राज्यपाल ने उन्हें नई जिम्मेदारी के लिए शुभकामना दी​​।

नियुक्ति की खबर ने ओडिशा के लोगों के बीच खुशियां

  • ​​लेफ्टिनेंट जनरल सीपी मोहंती ने आज ओडिशा के राज्यपाल गणेशी लाल से राजभवन में जाकर मुलाक़ात की​।
  • राज्यपाल ने उन्हें नई जिम्मेदारी के लिए शुभकामना दी​​। इसके बाद उन्होंने भुवनेश्वर स्थित सैनिक स्कूल में प्रेस से बातचीत की।
  • ओडिशा में मुख्य मंत्री नवीन पटनायक ने भी भारतीय सेना के अगले उप-प्रमुख के रूप में नियुक्त किए जाने पर लेफ्टिनेंट जनरल सीपी मोहंती को बधाई दी है। उन्होंने इसे ओडिशा के लिए वाकई गौरव का क्षण बताया है, क्योंकि वह इस पद के लिए चुने जाने वाले पहले ओडिया अधिकारी हैं।
  • लेफ्टिनेंट जनरल मोहंती ओडिशा के जगत सिंह पुर के जयबाड़ा गांव के मूल निवासी हैं। उनकी नियुक्ति की खबर ने न केवल जिले के निवासियों बल्कि पूरे ओडिशा के लोगों के बीच खुशियां मनाई जा रही हैं।