बजट 2022 : आज सुबह 11 बजे लोकसभा में आम बजट पेश

वित्तीय वर्ष 2022-23 बजट में खास

  • निर्मला सीतारमण आज सुबह 11 बजे लोकसभा में साल 2022-23 का आम बजट पेश करेंगी। बजट में आयकर में छूट की सीमा 2.5 लाख रुपये से बढ़ाए जाने के ऐलान की संभावना। बजट में खास ध्यान कृषि , किसानों और एमएसएमई सेक्टर पर रहने की उम्मीद।
  • केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए देश का आम बजट पेश करेंगी। पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव और कोरोना से सुस्त पड़ी अर्थव्यवस्था के बीच निर्मला सीतारमण ये बजट पेश करने जा रही हैं। पिछले करीब दो साल से कोरोना की वजह से अर्थव्यवस्था की रफ्तार धीमी रही है। बेरोजगारी और महंगाई भी बड़ा मुद्दा है। ऐसे में बजट में सरकार की प्राथमिकताएं क्या होंगी और आमलोगों के लिये इसमें क्या खास हो सकता, इस पर सभी की निगाह है।

केंद्रीय कैबिनेट बजट को मंजूरी

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संसद भवन पहुंच गए हैं। कैबिनेट की बैठक भी आज पेश होने वाले बजट पर जारी है। बैठक में केंद्रीय कैबिनेट बजट को मंजूरी देगा। इसके बाद इसे लोकसभा में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की ओर से पेश किया जाएगा।
  • बजट की कॉपियों से लदी एक ट्रक थोड़ी देर पहले संसद पहुंची। इसकी तस्वीरें सामने आई हैं।
  • केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, वित्त राज्य मंत्री भागवत किशनराव कराड, पंकज चौधरी सहित वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने बजट 2022-23 पेश करने से पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की।
  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण वित्त मंत्रालय पहुंच गई हैं। सुबह 11 बजे वे संसद में बजट पेश करेंगी।
  • वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी और भागवत कराड वित्ती मंत्रालय पहुंच गए हैं। भागवत कराड ने कहा- पीएम नरेंद्र मोदी ने उम्मीद जताई है कि हर ग्रुप भले ही वो सत्ता पक्ष से हो या विपक्ष से, वो बजट सुनेगा और सहयोग देगा।
  • पंकज चौधरी ने कहा- वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण हर किसी और हर सेक्टर की जरूरत के हिसाब से बजट पेश करेंगी। इसमें सभी के लिए फायदे होंगे। किसानों सहित सभी सेक्टर को इस बजट से उम्मीद रखनी चाहिए। थोड़ा धीरज रखिए, बजट से सभी लोग बेहद खुश होंगे।
  • निर्मला सीतारमण सुबह 11 बजे लोकसभा में साल 2022-23 का आम बजट पेश करेंगी। ये उनकी ओर से पेश होने वाला चौथा आम बजट होगा। उम्मीद जताई जा रही है कि अगले वित्त वर्ष का आम बजट निवेश और रोजगार सृजन के लिए खर्च बढ़ाने पर केंद्रित होगा।

बजट 2022: सरकार के पास वित्त वर्ष 2022-23 में 8-8.5 प्रतिशत की अच्छी वृद्धि

  • आम बजट में अर्थव्यवस्था को मजबूत करने पर जोर होगा और इसके लिए बुनियादी ढांचे पर खर्च बढ़ाया जा सकता है। कल ही पेश हुए आर्थिक समीक्षा में कहा गया है कि सरकार के पास वित्त वर्ष 2022-23 में 8-8.5 प्रतिशत की अच्छी वृद्धि दर से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था का समर्थन करने के लिए राजकोषीय गुंजाइश है।
  • उम्मीद है कि सीतारमण वृद्धि को समर्थन देने के साथ-साथ वित्तीय रूप से सावधान रहते हुए वृद्धि के एजेंडा को बढ़ावा देंगी और इसके लिए अधिक पूंजीगत व्यय की राह अपनाएंगी। इससे निवेश चक्र और रोजगार में तेजी आएगी। इसके साथ ही वित्त मंत्री वित्तीय संरक्षणवादी रुख अपनाएंगी।
  • आधारभूत ढांचा क्षेत्र में सड़क, रेलवे और जल के लिए अधिक आवंटन हो सकता है। छोटे व्यवसायों और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती देने के उपाय भी बजट का हिस्सा हो सकते हैं। इस तरह की उम्मीदें की जा रही हैं कि आयकर में छूट की सीमा 2.5 लाख रुपये से बढ़ाई जा सकती है।
  • इसके अलावा मनरेगा (MGNREGA) के बजट में इजाफे की संभावना है। बजट में खास ध्यान कृषि , किसानों और एमएसएमई सेक्टर पर रहने की संभावना है।