टीकाकरण का दूसरा चरण शुरू 1 मार्च से COVID महामारी के खिलाफ

को-विन ऐप

COVID-19 वैक्सीन प्रशासन पर अधिकार प्राप्त समूह के अध्यक्ष आरएस शर्मा ने कहा, “को-विन पर लोग कई तरह से पंजीकरण करा सकते हैं, जिसमें आरोग्य सेतु या अन्य एप्लिकेशन सामान्य सेवा ऐप शामिल है।”

  1. फेज 2 के लाभार्थी सोमवार से ही को-विन एप पर अपना पंजीकरण करा सकेंगे। कथित तौर पर केंद्रों पर पंजीकरण के लिए जाकर भी पंजीकारण करा सकते हैं।
  2. को-विन ऐप का नया संस्करण GPS सक्षम होगा
  3. लोग को-विन प्लेटफ़ॉर्म के नए संस्करण में टीके (कोविशिल्ड या कोवाक्सिन) का चयन नहीं कर पाएंगे। हालांकि, वे तिथि और केंद्र का चयन कर सकते हैं।
  4. एक मोबाइल फोन पर चार अपॉइंटमेंट लिए जा सकते हैं।

टीकाकरण दूसरा चरण शुरू

  • भारत में 1 मार्च से COVID-19 महामारी के खिलाफ टीकाकरण का दूसरा चरण शुरू होने जा रहा है, जिसमें तहत 60 वर्ष से ऊपर के लोग और गंभीर बीमारी वाले 45 वर्ष से अधिक उम्र को टीका लगाया जाएगा।
  • भारत ने दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत 16 जनवरी से की थी।
  • जो लोग इस चरण में टीकाकरण के लिए पात्र हैं, वे खुद को सरकार के पोर्टल, को-विन (एक डिजिटल प्लेटफॉर्म जो कोविड-19 वैक्सीन डिलीवरी के वास्तविक समय की निगरानी के लिए बनाया गया था) पर पंजीकृत कर सकते हैं।

को-विन डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म

  • 1 मार्च से 10,000 सरकारी और 20,000 से अधिक प्राइवेट केंद्रों पर टीकाकरण किया जाएगा। सरकारी केंद्रों पर यह टीका नि: शुल्क लगाया जाएगा। 
  • जबकि प्राइवेट केंद्रों पर इसके लिए भुगतान करना होगा। हालांकि सरकार ने अभी यह नहीं बताया कि प्राइवेट केंद्रों पर इसके लिए कितने पैसे देने होंगे।
  • विशेष रूप से को-विन डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म को-विन 1.0 से को-विन 2.0 को 27 फरवरी और 28 फरवरी तक अपडेट के लिए निर्धारित किया गया है।
  • केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, इन दो दिनों के दौरान कोई भी कोविड-19 टीकाकरण सत्र निर्धारित नहीं किया जाएगा।

Co-WIN ऐप पंजीकरण

  1. Co-WIN ऐप या cowin.gov.in की वेबसाइट पर जाएं
    मोबाइल नंबर या आधार नंबर डालें
  2. आपको एक ओटीपी प्राप्त होगा, जिसके साथ आपका खाता बनाया जाएगा
    आप अपने परिवार के सदस्यों को खाते में पंजीकृत करवा सकते हैं
  3. निर्धारित तिथि और समय पर टीकाकरण केंद्र पर जाएं और डोज प्राप्त करें
    संदर्भ आईडी का उल्लेख करके अपना टीकाकरण प्रमाणपत्र प्राप्त करें
  4. 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को अपनी बीमारियों का उल्लेख करते हुए एक चिकित्सा प्रमाणपत्र अपलोड करना होगा।
  5. सरकार ने अभी तक उन शर्तों को स्पष्ट नहीं किया है जो गंभीर बीमारी के साथ 45 से अधिक आयु वर्ग में शामिल होंगी।