आज से अयोध्या में RSS का पांच दिवसीय अखिल भारतीय शारिरिक अभ्यास वर्ग शुरू

कारसेवकपुरम में RSS प्रमुख मोहन भागवत मंगलवार को तीन दिनों तक इस कार्यक्रम में शामिल होंगे

  • राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का पांच दिवसीय अखिल भारतीय शारिरिक अभ्यास वर्ग सोमवार से अयोध्या के कारसेवकपुरम में शुरू होगा।
  • आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत मंगलवार को अयोध्या पहुंचेंगे तीन दिनों तक इस कार्यक्रम में शामिल होंगे।
  • सूत्रों के अनुसार, यह आयोजन हर पांचवें वर्ष आयोजित किया जाता है, जिसमें आरएसएस के स्वयंसेवकों को राष्ट्रीयता, भारतीय संस्कृति का प्रचार करने स्वदेशी को बढ़ावा देने के साथ-साथ ऐसे अन्य मुद्दों को जनता के बीच अवगत कराया जाता है।
  • लंबे समय के बाद नागपुर के बाहर इसका आयोजन किया जा रहा है।
  • आरएसएस महासचिव दत्तात्रेय होसबले, वरिष्ठ पदाधिकारी भैयाजी जोशी 45 प्रांतीय इकाइयों के अन्य पदाधिकारी बैठक में भाग ले रहे हैं।
  • उनमें से ज्यादातर पहले ही अयोध्या पहुंच चुके हैं कारसेवकपुरम में रह रहे हैं। इस कार्यक्रम में देशभर से आरएसएस के करीब 500 स्वयंसेवक भी शामिल हो रहे हैं।

RSS 2025 में अयोध्या में अपना शताब्दी वर्ष समारोह आयोजित करने के प्रस्ताव पर विचार

  • आरएसएस के एक वरिष्ठ पदाधिकारी के अनुसार, आरएसएस अपने कार्यकर्ताओंको संदेश देना चाहता है कि उत्तर प्रदेश महत्वपूर्ण है क्योंकि अगले साल की शुरूआत में विधानसभा चुनाव होने हैं। राम मंदिर का निर्माण भी चल रहा है जो आरएसएस के लिए बड़ा मनोबल बढ़ाने वाला है।
  • सूत्रों के अनुसार, आरएसएस 2025 में अयोध्या में अपना शताब्दी वर्ष समारोह आयोजित करने के प्रस्ताव पर विचार कर रहा है।
  • नागपुर में 1925 में दशहरा के दिन आरएसएस अस्तित्व में आया।
  • इस बीच अयोध्या में सोमवार से दो दिवसीय राम मंदिर निर्माण समिति की बैठक भी शुरू हो जाएगी।
  • समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्रा सोमवार को बैठक की अध्यक्षता करने अयोध्या पहुंचेंगे।
  • ट्रस्ट के सदस्यों के अनुसार, आरएसएस प्रमुख के मिश्रा के साथ चल रहे राम मंदिर निर्माण पर अनौपचारिक चर्चा करने की भी संभावना है।
  • राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय आरएसएस प्रमुख को अयोध्या में प्रस्तावित अन्य विकास परियोजनाओं से अवगत कराएंगे।
  • ट्रस्ट ने मई 2024 में होने वाले अगले लोकसभा चुनाव से पहले भक्तों के लिए राम मंदिर के गर्भगृह को खोलने के लिए दिसंबर 2023 की समय सीमा तय की है।