Republic Day Parade 2021 में बडे़ बदलाव कोरोना वायरस के मद्देनजर

गणतंत्र दिवस पर सोशल डिस्टैंसिंग

  • पहली बार इतिहास में ऐसा हो रहा है जब गणतंत्र दिवस परेड का समापन लाल किले पर नहीं होगा। परेड की शुरुआत विजय चौक से होगी और ये नेशनल स्टेडियम पर जाकर खत्म होगी।
  • कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर केंद्र सरकार ने गणतंत्र दिवस परेड 2021 में कई बडे़ बदलाव किए हैं। ताकि परेड के दौरान भीड़भाड़ से बचा जा सके और सोशल डिस्टैंसिंग भी सुनिश्चित हो सके।
  • इस साल परेड की दूरी को भी कम कर दिया गया है, जो पहले 8.2 किमी थी, वही अब 3.3 किमी हो गई है।

नए प्रोटोकॉल के अनुसार, मार्च करने वाले और परेड में हिस्सा लेने वाले सभी लोगों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा। साथ ही इस साल परेड करने वाले दलों की संख्या भी कम कर दी गई है। 144 सदस्यों के बजाय हर एक में इस साल 96 प्रतिभागी होंगे। दर्शकों की संख्या को 1,15,000 से घटाकर 25,000 कर दिया गया है। 15 साल से कम उम्र के बच्चों को प्रवेश करने की अनुमति नहीं है। सांस्कृतिक कार्यक्रमों की संख्या में भी कमी की गई है।

नए नियम कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए जारी

  • ये नए नियम कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए जारी किए गए हैं। हाल ही में गणतंत्र दिवस की परेड में हिस्सा लेने के लिए दिल्ली आए करीब 150 सेना के जवान कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं।
  • इन सभी को दिल्ली छावनी में क्वारंटाइन किया गया है। भारत ने अगले साल आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह के लिए चीफ गेस्ट के तौर पर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को आमंत्रित किया है।
  • विदेश मंत्रालय ने बीते हफ्ते ही इस बात को स्पष्ट किया है कि उनके देश में वायरस का नया स्ट्रेन मिलने के बावजूद भी ब्रिटेन के प्रधानंमत्री गणतंत्र दिवस समारोह में आ रहे हैं।
  • वहीं कोरोना वायरस के मामलों की बात करें तो भारत में बीते 24 घंटों में कोरोना वायरस के 20,550 नए मामले सामने आए हैं और इस दौरान 26,572 रिकवरी और 286 मौत भी दर्ज की गई हैं।
  • स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, देश में अब कुल मामलों की संख्या 1,02,44,853 हो गई है, जिसमें 9,83,4141 रिकवरी, 2,62,272 सक्रिय मामले और 1,48,439 मौत शामिल हैं।