इनकम टैक्स रिफंड की झटपट प्रोसेसिंग

अब तक रिफंड नहीं मिला Income Tax Refund

1,54,55,577 मामलों में 57,139 करोड़ रुपये का रिफंड जारी हुआ है. जबकि, 2,10,150 मामलों में 1,15,999 करोड़ रुपये का कॉरपोरेट टैक्स (Corporate Tax) जारी किया गया है. हालांकि, सोशल मीडिया कई टैक्सपेयर्स का कहना है कि आईटीआर फाइल करने के 4 से 5 महीने के बाद भी उन्हें अब तक रिफंड नहीं मिला है.

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने बुधवार को ट्वीट कर जानकारी दी कि 1 अप्रैल 2020 से लेकर 11 जनवरी 2021 के बीच 1.57 करोड़ टैक्सपेयर्स को 1,73,139 करोड़ रुपये का रिफंड (Income Tax Refund) जारी किया जा चुका है.

दिसंबर महीने में की कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया था कि टैक्सपेयर्स को आईटीआर फाइल करने के एक सप्ताह के अंदर ही रिफंड मिल जा रहा है. ऐसा इसलिए हो रहा क्योंकि पहले की तुलना में अब इनकम टैक्स रिफंड की प्रोसेसिंग तेजी से हो रही है. उतनी ही तेजी से रिफंड भी जारी किया जा रहा है.

नई टेक्नोलॉजी – CPC 2.0 – का इस्तेमाल

  • कुछ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स का कहना है कि हमने कई ऐसे मामले देखें हैं, जिसमें टैक्सपेयर्स को बहुत जल्द ही रिफंड मिल रहा है. इसके पहले ऐसा नहीं देखने को मिलता था.
  • ITR-1 और ITR-4 के मामले में ऐसा हो रहा है.
  • दरअसल, इनकम टैक्स विभाग ने अपने प्लेटफॉर्म पर एक नई टेक्नोलॉजी – CPC 2.0 – का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है.
  • इसके अलावा टैक्स विभाग ने ”झटपट प्रोसेसिंग” नाम से एक नई पहल भी शुरू की है. झटपट प्रोसेसिंग के तहत आईटीआर-1 और आईटीआर-4 की प्रोसेसिंग शुरू हो चुकी है.