2020-21 में स्कूलों से कॉलेजों तक छात्र-छात्राओं की बार सबकी परीक्षाएं मई में होंगी

मई में भीषण गर्मी 

  • कोरोना संक्रमण से प्रभावित सत्र 2020-2021 में स्कूलों से कॉलेजों तक छात्र-छात्राओं के साथ इस वर्ष खास संयोग रहेगा।
  • छोटे से बड़ों तक अबकी बार सबकी परीक्षाएं मई में होंगी। बीते वर्षों में यह पहली बार है जब सभी बोर्ड में 10-12 वीं और विश्वविद्यालय में स्नातक-स्नातकोत्तर के स्टूडेंट को एक साथ ही पेपर से गुजरना होगा। 
  • छात्र-छात्राओं को परीक्षा के साथ-साथ भीषण गर्मी से भी जूझना होगा। स्कूल से कॉलेजों तक केंद्रों पर भीषण गर्मी के हिसाब से व्यवस्था करना सबसे बड़ी चुनौती रहेगी। 
  • मई में पारा 39-42 डिग्री सेल्सियस के बीच संभावित है। बीते वर्षों में मई के शुरुआत में पारा 38-39 और मध्य मई के बाद 40-42 डिग्री सेल्सियस के बीच रहा।
  • लू और भीषण गर्मी मई में चरम पर रहती है। इस वर्ष पेपर जून में भी रहेंगे। यानी भीषण गर्मी में छात्रों को दोहरी परीक्षा से गुजरना होगा। 

परीक्षा समय मई कार्यक्रम

NTA नेट का पेपर दो, तीन, चार, पांच, छह, सात, दस, 11, 12, 14 एवं 17 मई को दो पालियों में नौ से 12 और तीन से छह बजे के बीच होगा। जेईई मेन सेशन-4 की परीक्षा भी 24, 25, 26, 27 एवं 28 मई को होनी है। 

  • सीबीएसई 10-12वीं के पेपर चार मई से शुरू होंगे। 10वीं के पेपर सात जून और 12वीं के 11 जून तक चलेंगे।
  • आईएससी-आईसीएसई में शुरुआत लिखित परीक्षा पांच मई से होगी। 12वीं के पेपर 16 जून और दसवीं के सात जून तक होंगे।
  • यूपी बोर्ड की शुरुआत 24 अप्रैल से होगी। 10वीं के पेपर 10 मई और 12वीं के 12 मई तक चलेंगे।
  • चौ.चरण सिंह विवि में स्नातक रेगुलर-प्राइवेट और पीजी प्राइवेट के सभी छात्रों की परीक्षाएं मई में रहेंगी। शुरुआत अप्रैल के अंतिम दिन में होने की उम्मीद।
  • विवि की परीक्षाओं में चार लाख जबकि बोर्ड परीक्षाओं में करीब छह लाख परीक्षार्थी शामिल होंगे।