किसानों ने अपने आंदोलन को तेज करने के लिए नई रणनीतियों की घोषणा की

11 किसान 24 घंटे के भूख हड़ताल पर

  • किसानों ने बताया है कि आज यानी सोमवार से हर रोज 11 किसान 24 घंटे के भूख हड़ताल पर रहेंगे।
  • दिल्ली की सीमाओं पर तमाम परेशानियां झेलते हुए आज किसानों का आंदोलन 26वें दिन में प्रवेश कर चुका है।
  • जब उनका उपवास खत्म होगा तो अन्य 11 लोग हड़ताल पर बैठ जाएंगे इस तरह यह चेन चलती रहेगी।
  • इसके साथ ही आगे जाकर टोल प्लाजा फ्री करना और थाली बजाने जैसे कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे।
  • इसके साथ ही किसानों ने अपने आंदोलन को तेज करने के लिए नई रणनीतियों की घोषणा कर दी है।

सरकार ने फिर भेजा बातचीत के लिए न्योता

आज इन किसान संगठनों के नेता 24 घंटे की भूख हड़ताल पर रहेंगे…

 1) जय किसान आन्दोलन की रविंदरपाल कौर गिल
 2) भारतीय किसान यूनियन एकता (सिद्धपुर) के अध्यक्ष जगजीत सिंह दलेवाल
 3) कुलदीप सिंह दयाला, वित्त सचिव, दोआबा किसान यूनियन पंजाब
 3) भारतीय किसान यूनियन पंजाब के अध्यक्ष फुरमान सिंह संधू
 4) बूटा सिंह चक्र, राज्य नेता, पंजाब किसान यूनियन
 5) डेमोक्रेटिक किसान सभा पंजाब के अध्यक्ष डॉ। सतनाम सिंह अजनाला
 ६) क्रांतिकारी किसान यूनियन पंजाब के नेता अवतार सिंह कौरजीवाला
 7) कीर्ति किसान यूनियन के भूपिंदर सिंह लोंगोवाल
 8) दोआबा किसान समिति के अध्यक्ष जंगबीर सिंह चौहान
 9) दोआबा किसान संघर्ष समिति के मुकेश चंद्र
 10 कुल हिंद किसान सभा (बलनवाल) के बलजीत सिंह
 11) लोक इंसाफ वेलफेयर के अध्यक्ष बलदेव सिंह सिरसा

केंद्र लाई ई-गवर्नेंस प्रोजेक्ट फॉर एग्रीकल्चर परियोजना

  • पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि, मोदी सरकार कृषि के क्षेत्र में आधुनिक तकनीक को लाने के लिए ई-गवर्नेंस प्रोजेक्ट फॉर एग्रीकल्चर (एनईजीपीए) परियोजना लाई है।
  • भारत सरकार के इन सब प्रयासों के पीछे किसानों की भलाई और कृषि क्षेत्र की भलाई है।