किसान दिवास पर किसानों का आंदोलन जारी

सरकार का दावा : मुद्दे का हल जल्द ही निकाल लिया जाएगा

  • कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की मांग को लेकर किसानों का आंदोलन जारी है। किसानों के आंदोलन का आज 28वां दिन है।
  • तीनों नए कृषि कानूनों को वापस लिए जनाने की मांग को लेकर किसान इस हाड़ कंपा देने वाली सर्दी में भी दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं।
  • सरकार की ओर से किसानों को प्रस्ताव भेजे जाने के बाद अब तक वार्ता के लिए कोई तारीख तय नहीं हो पाई है। इस बीच सरकार का दावा है कि जल्द ही इस मुद्दे का हल निकाल लिया जाएगा।

खाद्य सुरक्षा का कवच

  • किसान दिवास पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का बयान आया है। उन्होंने कहा, “किसान दिवस पर मैं देश के सभी अन्नदाताओं का अभिनंदन करता हूं।
  • उन्होंने देश को खाद्य सुरक्षा का कवच प्रदान किया है। कृषि कानूनों को लेकर कुछ किसान आंदोलनरत हैं।
  • सरकार उनसे पूरी संवेदनशीलता के साथ बात कर रही है। मैं आशा करता हूं कि वे जल्द अपने आंदोलन को वापिस लेगें।”
  • हर साल देश के 5वें प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती के मौके पर 23 दिसंबर को राष्ट्रीय किसान दिवस मनाया जाता है।
  • दरअसल चरण सिंह ने अपने प्रधानमंत्री कार्यकाल के दौरान कृषि क्षेत्र में सुधार को लेकर अहम भूमिका निभाई थी।
  • उन्हें किसान हितैषी नीतियों का मसौदा तैयार करने के लिए भी याद किया जाता है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री और देश के सबसे सम्मानित किसान नेताओं में से एक, चौधरी चरण सिंह जी को उनकी जयंती के अवसर पर मैं स्मरण और नमन करता हूं। चौधरी साहब आजीवन किसानों की समस्याओं को आवाज देते रहे और उनके कल्याण के लिए काम करते रहे। देश उनके योगदान को हमेशा याद रखेगा।