केंद्रीय वित्त मंत्रालय के लिए मुख्य आर्थिक सलाहकार के रूप में डॉ. वी अनंत नागेश्वरन नियुक्ति

भारत सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार का पद को डॉ. वी अनंत नागेश्वरन संभाला

  • डॉ. वी अनंत नागेश्वरन को केंद्रीय वित्त मंत्रालय के लिए मुख्य आर्थिक सलाहकार (सीईए) के रूप में नियुक्त किया गया.
  • वित्त मंत्रालय ने ट्वीट कर उनकी नियुक्ति की पुष्टि की बताया कि इस नियुक्ति से पहले डॉ. नागेश्वरन एक लेखक, शिक्षक सलाहकार के रूप में काम कर चुके हैं. उन्होंने भारत सिंगापुर में कई बिजनेस स्कूलों प्रबंधन संस्थानों में पढ़ाया है बड़े पैमाने पर उनके शोध प्रकाशित हुए हैं. इस नियुक्ति से पहले डॉ. नागेश्वरन एक लेखक, शिक्षक सलाहकार के रूप में काम कर चुके हैं.
  • उन्होंने भारत सिंगापुर में कई बिजनेस स्कूलों प्रबंधन संस्थानों में पढ़ाया है बड़े पैमाने पर प्रकाशित किया है.

भारत महामारी से उबरने के संकेत

  • भारत सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार का पद महीनों से खाली है. दिसंबर 2021 में केवी सुब्रमण्यम का कार्यकाल खत्म हो गया था. उसके बाद अब तक नए सीईए की नियुक्ति नहीं हो पाई. अब जबकि ‘एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था’ यानी भारत महामारी से उबरने के संकेत दे रहा है.
  • भारत दुनिया की सबसे तेज गति से बढ़ने की राह पर है, इसके साथ ही देश में बेरोजगारी भी बढ़ती नजर आ रही है. वहीं सरकार पर इससे उबरने का दबाव भी है. अब ऐसे में नए मुख्य आर्थिक सलाहकार से उम्मीद की जाएगी कि वे निवेश को पुनर्जीवित करते हुए बजट अंतर को कम करते हुए उच्च विकास के लिए एक नुस्खा प्रदान करेंगे.
  • आर्थिक सलाहकार को वित्त मंत्री के प्रमुख नीतिगत मामलों पर सलाह देने की जरूरत होती है. इसके अलावा इकोनॉमिक सर्वे के प्रमुख लेखक होने के नाते आर्थिक सलाहकार को अर्थव्यवस्था का सालाना रिपोर्ट कार्ड बनाना होता है, जो बजट से पहले संसद में पेश किया जाता है. ज्यादातर सलाहकार अपने विचारों को जनता के सामने रखने के लिए इस मंच का उपयोग करते हैं.