covid-19 Vaccine: निवेशकों की निगाह कोरोना वायरस से जुड़ी खबरों के साथ वैश्विक घटनाक्रमों पर भी रहेगी

वैश्विक घटनाक्रमों पर निवेशकों की नजर

  • विश्लेषकों ने यह राय जताते हुए कहा कि निवेशकों की निगाह कोरोना वायरस से जुड़ी खबरों के साथ वैश्विक घटनाक्रमों पर भी रहेगी।
  • कोविड-19 वैक्सीन से जुड़ी खबरों तथा अमेरिका में एक और प्रोत्साहन पैकेज से जुड़े घटनाक्रमों से इस सप्ताह शेयर बाजारों की दिशा तय होगी।
  • बीते सप्ताह बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स दो प्रतिशत से अधिक चढ़कर पहली बार 45,000 अंक के स्तर को पार कर गया।
  • रिजर्व बैंक ने मौद्रिक समीक्षा बैठक में नीतिगत दरों में बदलाव नहीं किया है लेकिन अपने नरम रुख को कायम रखा है।
  • साथ ही केंद्रीय बैंक ने चालू वित्त वर्ष के लिए अपने सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के अनुमान में सुधार किया किया है।

बीते सप्ताह शुक्रवार को सेंसेक्स ने अपना सर्वकालिक उच्चस्तर 45,148.28 अंक छुआ। अंत में सेंसेक्स अपने नए रिकॉर्ड स्तर 45,079.55 अंक पर बंद हुआ। इसी तरह नेशनल स्टॉक का एक्सचेंज का निफ्टी कारोबार के दौरान 13,280.05 अंक के अपने सर्वकालिक उच्चस्तर को छूने के बाद अंत में नए रिकॉर्ड स्तर 13,258.55 अंक पर बंद हुआ। बीते सप्ताह सेंसेक्स 929.83 अंक या 2.10 प्रतिशत के लाभ में रहा। वहीं निफ्टी में 289.60 अंक या 2.23 प्रतिशत का उछाल आया।

विश्लेषकों ने कहा कि अमेरिका में नए प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा की उम्मीद तथा कारोना वायरस से जुड़ी अच्छी खबरों से दुनियाभर के बाजारों में तेजी आई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले सप्ताह घोषणा की कि कोविड-19 का टीका कुछ सप्ताह में आ जाएगा। उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों का मानना है कि टीके के लिए अब लंबा इंतजार नहीं करना होगाा। प्रधानमंत्री ने कहा कि वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलते ही भारत में टीकाकरण अभियान शुरू होगा। चॉइस ब्रोकिंग के कार्यकारी निदेशक सुमीत बगाड़िया ने कहा, ”निवेशकों की निगाह कोरोना वायरस की स्थिति और वैक्सीन से जुड़े घटनाक्रमों पर रहेगी। साथ ही आर्थिक गतिविधियों पर भी उनकी नजर रहेगी।”

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि कोविड-19 के टीके से जुड़ी नयी खबरों तथा अमेरिका में प्रोत्साहन पैकेज की चर्चा से इस सप्ताह वैश्विक बाजारों का रुख सकारात्मक रह सकता है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, शनिवार को देश में कोविड-19 के सक्रिय मामलों की संख्या घटकर 4,09,689 रह गई। यह 136 दिन में इसका सबसे निचला स्तर है।

रेलिगेयर ब्रोकिंग के उपाध्यक्ष-शोध अजित मिश्रा ने कहा, ”अब सभी प्रमुख घटनाक्रमों पीछे छूट चुके हैं, ऐसे में इस सप्ताह वैश्विक संकेतक शेयर बाजारों की दिशा तय करेंगे। इसके अलावा निवेशकों की निगाह कोविड-19 टीके से जुड़ी खबरों पर भी रहेगी।”