भारत के सभी जिलों में 8 जनवरी को दूसरा ड्राई रन होगा

COVID-19 वैक्सीन टीकाकरण

  • भारत भर में COVID-19 वैक्सीन टीकाकरण होने से पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को सभी राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के स्वास्थ्य मंत्रियों से मिले और उनको इसके बारे में जानकारी दी।
  • देश के सभी जिलों में 8 जनवरी को दूसरा ड्राई रन होगा। COVID-19 टीकाकरण के लिए पहला ड्राई रन 2 जनवरी को सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा आयोजित किया गया था।
  • सरकार ने 28-29 दिसंबर तक चार राज्यों के आठ जिलों असम, पंजाब, गुजरात और आंध्र प्रदेश में पहले ही दो दिवसीय टीकाकरण ड्रिल का आयोजन किया था।
  • ड्राई रन में को-विन में डेटा एंट्री और टीकों की डिलीवरी की निगरानी के लिए तैयार किया है। इसके साथ ही मॉक ड्रिल, लाभार्थियों का परीक्षण, कोल्ड स्टोरेज की जांच, कई अन्य चीजों के बीच परिवहन व्यवस्था का भी जायजा लिया गया।

चुनौतियों की पहचान करना

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय (MoHFW) के अनुसार, ”COVID-19 वैक्सीन कार्यक्रम के लिए ड्राई रन का उद्देश्य COVID वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क (को-विन) एप्लिकेशन के उपयोग में परिचालन व्यवहार्यता का आकलन करना, योजना और कार्यान्वयन के बीच की कड़ी का परीक्षण करना, चुनौतियों की पहचान करना और वास्तविक कार्यान्वयन से पहले आगे बढ़ने के मार्ग को निर्देशित करना है।”

  • वैक्सीन ड्राई रन के लिए 1 लाख से अधिक लाभार्थियों को प्रशिक्षित किया गया है और 75,000 से अधिक लाभार्थियों को पहले से ही सह-विन सॉफ्टवेयर में पंजीकृत किया गया है।
  • ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने रविवार को पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा Covishield और Bharat Biotech द्वारा Covaxin यानी COVID-19 के लिए दो टीके को मंजूरी दी है।
  • जबकि विपक्षी दल और शोधकर्ताओं ने चरण-3 परीक्षणों के बिना कोवैक्‍सीन के आपातकालीन उपयोग को मंजूरी देने के कदम की आलोचना की है, हालांकि भारत बायोटेक ने स्पष्ट किया कि यह वैक्‍सीन 100 प्रतिशत सुरक्षित है।

मंगलवार को एम्स निदेशक डॉक्‍टर रणदीप गुलेरिया ने कहा कि लोगों में टीके की दूसरी खुराक प्राप्त करने के दो सप्ताह बाद SARS-CoV-2 वायरस के खिलाफ सुरक्षात्मक एंटीबॉडी विकसित होगी। वरिष्ठ पल्मोनोलॉजिस्ट ने यह भी कहा कि भारत में पेश की गई कोरोना वायरस वैक्सीन अन्य देशों द्वारा विकसित किसी भी वैक्‍सीन से ज्‍यादा प्रभावी होगी।