कोविड अस्पताल के वार्ड की हवा में कोरोनावायरस

हवा के नमूनों में वायरस

कोरोनावायरस (Coronavirus) को लेकर अब तक लगातार कई तरह की स्टडी और रिसर्च सामने आ रही हैं।

  • इसी कड़ी में इस जानलेवा वायरस की एक और स्टडी रिपोर्ट सामने आई है, जिसमें कहा है कि कोविड अस्पताल के वार्ड की हवा में कोरोनावायरस पाया गया है, जिससे ये हवा में फैल सकता है।
  • सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी (CCMB) और सीएसआईआर-इंस्टीट्यूट ऑफ माइक्रोबियल टेक्नोलॉजी (IMTech) के एक अध्ययन की ये रिपोर्ट है।

अध्ययन से यह भी पता चला कि हवा में कोरोनावायरस फैलने की संभावना सीधे वहां मौजूद कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या, उनकी स्थिति और जोखिम से सीधे संबंधित है। अध्ययन के अनुसार, जब कोरोना संक्रमित मरीज किसी जगह पर एक घंटे से ज्यादा समय बिताते हैं, तो वायरस दो घंटे से भी ज्यादा समय तक उस जगह की हवा में पाया रहता है।

सीएसआईआर-सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी ने बताया कि इस अध्ययन में COVID-19 अस्पताल के वार्डों से हवा के नमूनों में वायरस पाया गया, लेकिन गैर-COVID-19 वार्डों से नहीं। इससे पता चलता है कि अस्पताल के क्षेत्रों को अलग-अलग करना एक प्रभावी रणनीति रही है।