सीमा बलों की ताकत बढ़ेगी BOP के निर्माण से

ट्राई-जंक्शन रणनीतिक

  • सशस्त्र सीमा बल ने 22 बॉर्डर आउट पोस्ट का निर्माण किया है.
  • बॉर्डर आउट पोस्ट के निर्माण से सीमा बलों को भारत-भूटान बॉर्डरके निकट प्रमुख स्थानों पर तैनात किया जा सकता है.
  • अब SSB के पास कई बॉर्डर आउट पोस्ट हैं, जो समुद्र तल से 12,000 फीट से अधिक की ऊंचाई पर स्थित हैं.
  • SSB को प्रमुख त्रिकोणीय जंक्शन (भारत-भूटान-तिब्बत) के पास तैनात किया गया है. बॉर्डर आउट पोस्ट से सीमा बलों की ताकत बढ़ेगी.
  • भारतीय सेना के लिए ट्राई-जंक्शन रणनीतिक रूप से बहुत महत्वपूर्ण हैं. यहां 2017 में चीनी सेना के साथ एक लंबा स्टैंड-ऑफ चला था.

12 बीओपी का निर्माण होना बाकी

  • इन 22 बॉर्डर आउट पोस्ट के बाद, सशस्त्र सीमा बल अब अपने स्वीकृत बीओपी को प्राप्त करने के बेहद नजदीक है, जो कि 734 है. अब एसएसबी के पास 722 बीओपी हैं और केवल 12 का निर्माण होना फिलहाल बाकी है.
  • एसएसबी के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया, ‘ये बीओपी नए सीमा क्षेत्रों में, विशेषकर ट्राई-जंक्शन के पास, सीमा बलों की ताकत को बढ़ाएंगे.
  • ये नए 22 बॉर्डर आउट पोस्ट निर्धारित समय में तैयार किए गए हैं और इनमें से अधिकांश भारत-भूटान बॉर्डर पर स्थित हैं’.