भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहले टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया की हार,बड़ा बदलाव दूसरे टेस्ट में होगा

पहले टेस्ट मैच कई खिलाड़ियों को चयन पर सवाल

  • टीम इंडिया को पहले टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा था जिसके बाद क्रिकेट फैंस भड़क गए थे.
  • पहले टेस्ट में टीम इंडिया ने पहली पारी में 244 रन बनाए थे लेकिन बढ़त हासिल करने के बाद भी दूसरी पारी में 36 रनों पर आउट हुई थी.
  • अब विराट कोहली बाकी तीन टेस्ट मैच में नहीं होंगे कप्नाती अजिंक्य रहाणे करने वाले हैं.
  • अब टीम इंडिया में काफी सारे बदलाव होने वाले हैं क्योंकि पहले टेस्ट मैच कई खिलाड़ियों को चयन पर सवाल उठे थे.
  • अब क्रिकेट के दिग्गज भी अपनी राय प्लेइंग इलेवन को लेकर दे चुके हैं.

पृथ्वी शॉ की जगह लोकेश राहुल को मौका

  • महान भारतीय बल्लेबाज सुनील गावस्कर चाहते हैं कि मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 26 दिसंबर से शुरू हो रहे दूसरे टेस्ट में खराब फॉर्म में चल रहे पृथ्वी शॉ की जगह लोकेश राहुल पारी का आगाज करें उभरते हुए बल्लेबाज शुभमन गिल मध्यक्रम में खेलें. 
  • भारत को पहले टेस्ट में आठ विकेट से हार का सामना करना पड़ा इस दौरान भारत दूसरी पारी में 36 रन पर ढेर हो गया जो टेस्ट क्रिकेट में उसका न्यूनतम स्कोर है.
  • गावस्कर ने भारतीय अंतिम एकादश में संभावित बदलाव पर एक शो के दौरान बताया कि भारत दो बदलाव कर सकता है.
  • पहला सलामी बल्लेबाज के रूप में पृथ्वी शॉ की जगह लोकेश राहुल को मौका दिया जा सकता है. पांचवें या छठे नंबर पर शुभमन गिल को आना चाहिए.

मेलबर्न टेस्ट में अच्छी शुरुआत

वह अच्छी फॉर्म में है. अगर हम अच्छी शुरुआत करते हैं तो चीजें बदल सकती हैं. गावस्कर ने कहा कि अगर भारत सकारात्मक रवैया नहीं अपनाता है तो टीम को 0-4 से हार का सामना करना पड़ सकता है. इस पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा भारत को विश्वास रखना होगा कि वे टेस्ट सीरीज के बाकी मैचों में वापसी कर सकते हैं. अगर भारत सकारात्मक रवैया नहीं अपनाता है तो श्रृंखला 0-4 से गंवा सकता है. लेकिन अगर वे सकारात्मक रवैया अपना सकते हैं तो क्यों नहीं अपनाएं.

पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने कहा कि भारत को मेलबर्न टेस्ट में अच्छी शुरुआत करनी चाहिए, यह उनके लिए जरूरी है कि वे काफी सकारात्मकता के साथ मैदान पर उतरें. ऑस्ट्रेलिया का कमजोर पक्ष उसकी बल्लेबाजी है.

  • गावस्कर का मानना है कि पहले टेस्ट में भारतीय पारी के 36 रन पर सिमटने के बाद प्रशंसकों के बीच नराजगी स्वाभाविक है.
  • गावस्कर को साथ ही मलाल है कि भारतीय टीम ने पहले टेस्ट में काफी कैच छोड़े जिससे टीम सिर्फ 53 रन की बढ़त हासिल कर पाई.
  • उन्होंने कहा अगर हम कैच लपक लेते सही जगह पर फिल्डिंग में खड़े करते तो शायद कोई समस्या नहीं होती, टिम पेन मार्नस लाबुशेन जल्दी आउट हो जाते .
  • गावस्कर ने कहा हम 120 रन की बढ़त हासिल कर सकते थे. ऑस्ट्रेलिया इन टपकाए गए कैचों के कारण वापसी करने में सफल रहा भारत की बढ़त को 50 रन तक सीमित कर दिया